Friday, August 9, 2019

ON PAGE SEO KAISE KARTE HAI



Hello friends आज हम बात करेगे on-page-seo के बारे में (what is on-page seo). आपने आपने blog पर बहुत सारी post publish कर राखी है। पर उन पर page views बहुत कम आ रहे है या बिलकुल नही आ रहे है इसका इसका मतलब है की अपने on-page seo अच्छी से नही की हुई है। अगर आपने on-page seo अच्छे से की होगी तो आपको किसी भी trick और formule की जरूरत नही है। आपकी site easily तरीके से rank हो जाएगी google पर। आइये जानते है की on-page seo कैसे करते है।
Seo दो परकार की होती है on-page seo और off-page seo. आज हम बात करने जा रहे है की on-page seo kaise करते है और ये क्यू जरूरी है हमारी site के लिए।

Best method of on-page seo

1.POST TITLE: दोस्तो सबसे important factor होता है on-page-seo में आपका title अगर अपने अपना title को सही तरीके से use किए हुआ है तो हम अपनी post और site दोनों को google के search engine में first page rank करा सकते है।
Keyword: Post title में सबसे पहले आता है हमारा keyword हमें अपना keyword किस परकार से लिखना चाइए। ये सबसे important factor होता है seo में अगर हमने keyword को सही तरीके से optimized किए हुआ है तो हमारी पोस्ट गूगल में जरूर rank करेगी। इसके लिए सबसे easy method है की आप अपने keyword को हमेशा ही starting में रखने की कौशिश करे। पर ऐसे बहुत बार नही हो पता है। अगर आपके keyword का कोई sentence या meaning न बन रह हो तो आप keyword को middle में use करे न की last में।
keyword में एक factor बहुत important होता है की keyword बार बार use न किए हो। बहुत से blogger starting में keyword बार बार उसे करते है जो की google के search engine में negative way में जाती है। for e.x “ goggle adsense kya है google adsense से earning कैसे करते है” ये method गलत है आपने इसमें google adsense keyword को बार-बार use किए हुआ है। इसका सही method ये है की “goggle adsense kya है और इसे earning कैसे करते है”.

2.Permalink: दूसरे number पर आता है permalink post title की तरहा ये भी एक important factor है। on-page seo के लिए। बहुत से new blogger इसको नजर अंदाज़ कर देते है पर ये on-page seo के लिए important factor है। इसे आपकी keyword density भी बढ़ती है। आप जब भी permalink डाले उसको short रखे ज़्यदा long न करे। अपने keyword को permalink में जरूर use करे।

3.Use of heading tags: आप आपने content को और बड़िए बनाने के लिए H2,H3, का use करते ही होंगे। इसका एक benefits और है इसे ये user friendly भी हो जाती है। इनका use karne से on-page seo और भी strong हो जाती है। आपको tags का use करते वक़्त ये बात ध्यान रखे की H1 tag का use कभी न करे। kyuki ये हमेशा ही आपके title में होता है।

4.Keyword density in Article:
दोस्तो हम जब भी
article बनते है तो हमको अपना first pargraph कम-से-कम 125-150 word का जरूर लिखना चाइए। इनके बीच में ही keyword को ज़्यदा use करना चाइए. इसे आपको ये benefit मिलेगा की google search engine को आसानी से पता चल जाता है की आपकी post किस बारे में है। जिसे गूगल आपकी site को सबसे top पर दिखता है। और आपकी post भी अच्छे से seo optimized हो जाती है। आपकी पोस्ट के अंदर keyword density 1.5 से 2.5 के बीच में होनी चाइए।

5.Post Description: on-page seo में title और permalink के बाद post description बहुत जरूरी है। और इसका use हमें जरूर करना चाइए क्यूकी search engine में rank करने में बहुत आसनी होती है। कोई भी user जब भी गूगल पर search करके हमारी साइट पर आता है तो वो पहले description को जरूर read करता है। उसको जिस बारे में knowledge चाइए वो topic उसके बारे में है या नही उसे ही पता चलता है। description को हमेशा ही keyword की तरहा use करे। Description के अंदर 150 to 175 word हम लिख सकते है। इसका use हमको जरूर करना चाइए। जिससे हमारी ranking में improvement हो।

6.Long Content Post: अगर आपने blog अभी start किए है तो आपको google के search engine में rank करने के लिए कम-से-कम 1500 से 2000 word के बीच में content लिखना बहुत ही जरूरी है। अगर आप इतने word नही लिख सकते है तो काम-से-काम 1000 word तो जरूर लिखिए जिससे आपको search engine में ranking मिल सके। आप आपने article को जितना ज़्यदा lengthy करोगे आप उतने ही ज़्यदे keyword stuffing कर सकते हो। जिससे की google के bots को आपके article को read करने में उतनी ही ज़्यदा हेल्प मिलेगी की आपका topic किस बारे में है। गूगल हमेशा ही user friendly ही वो ये देखता है की user को सही जानकारी और पूआ री information कहा से मिलेगी। और वो उसको ही high ranking पर दिखता है। इसका एक example है Wikipedia आपने इसके article देखे ही होंगे। इसलिए कौशिश करे की आपका article lengthy हो।
7.Internal links: ज़्यदा page views पाने के लिए हम internal links का use करते है। हम अपनी पोस्ट जितनी मर्जी बड़ी बना ले पर जब तक आप अपनी site में external links used नही करेगे तो आपकी site अच्छे से rank नही करेगी। external लिंक का मतलब होता है की अपनी ही site पर old article का new article पर internal link बनाना। बहुत से new blogger internal link नही बनते है। जिससे उनकी site पर ज़्यदा page views नही आते और उनका bounce rate भी बड़ाता है। आप जब भी internal link बनाए आपनी site पर इस बात का ध्यान रखे की वो link उसी post से related हो। आप जब भी internal link बनाने तो keyword का used जरूर करे। एक पोस्ट में कम-से-कम 4-5 internal link जरूर बनाए। जिससे की user आपकी site पर ज़्यदा से ज़्यदा time spend कर सके।

8.External link: Internal link की तरह ही external link used करना भी important है। जब हम किसी और website का link अपनी site पर use करते है तो उसको external link कहते है। आप जब भी किसी का link अपनी site पर डालते है तो आपका D.A भी बढ़ता है। आपको external link का use भी करना अच्छे से आना चाइए। मान लीजिये आप google adsense पर post बना रहे है तो आप उसमें google adsense का link दे सकते है। आप जब भी external link का use करते है तो हमेशा ही उसको new tab के button पर click करे। जिससे की वो जब भी किसी लिंक पर click करे तो new tab open हो जाए। जिससे की वो आपकी site पर भी रुका रहे। और आपका bounce rate भी कम हो सके। इससे आपकी site seo freindaly भी हो जाएगी।
9.Social Media Button: अगर आप अपनी को बढ़िए से लिखते है उसको पूरा लिखते है तो कोई भी user उसको share करने से नही अपने आप को नही रोक पाएगे। पर वही अगर उसमें sharing button नही होगा तो वो उसको चाहते हुए भी उसको share नही कर पाएगा। अगर कोई भी user post को share करेगा तो आपका traffic बढ़ेगा। इसलिए आपको हमेशा ही post के last में Social Media Button का used हमेशा करना चाइए। जिससे आपकी site पर traffic gain हो सके।
10.Page Loading Speed: Google page loading speed भी check करता है। अगर आपकी site की speed page loading में ज़्यदा time लगती है तो आपकी site seo friendly नही है। जो की आपकी site के लिए बिलकुल भी अच्छा नही है। इसलिए आपकी site की speed अच्छी होनी चाइए। जिससे की user आपकी site से left न करे। अगर आपकी site की speed अच्छी नही होगी तो कोई भी user आपकी साइट पर नही रुकेगा वो left कर जाएगा। page loading speed करने के लिए आपको images का size कम कर सकते है। आप अपनी site पर widgets को कम कर दे जो extra widgets हो उसको हटा दे। अपने ब्लॉग के लिए responsive template ही select करे जो की page loading में कम टाइम ले। आपके blog की site की speed 3-4 second की होनी चाइए।
11.Image Optimization: हमारी image का thumbnil user को बहुत ज़्यदा engage करती है। images से हम अपने users बहुत कुछ describe करते है। images से ही पता चलता है की हमारी post किस बारे में है। जब भी हम social media पर कोई पोस्ट share करते है तो सबसे पहले हमारी image का thumbnil ही show होता है जिसको देखकर user आपकी site पर आता है। इसलिए आपका thumbnil जितना बढ़िए और attractive होगा आपकी site के लिए अच्छा होगा और social media से आपका traffick भी अधिक आएगा। दोस्तो ये बात थी image के डिज़ाइन के बारे में अब बात करते है image के seo के बारे में:-
Image title: दोस्तो image का title भी आपकी site पर traffic और rank करवा सकता है। इसके लिए जब भी आप अपनी image को बनाए उसके अंदर keyword का use जरूर करे। बहुत से image को abcd.png” naam dete है ये एक wrong method है seo के लिए। आप हमेशा ही अपनी image का naam on-page-seo” ऐसे रखे ये एक correct method है seo के लिए।

Alt tag: New blogger अक्सर इस बात का ध्यान नही देते है की image के अंदर alt tag का use नही करते है। जो की seo ranking में बहुत ज़्यदा effect करता है। हमेशा ही image के अंदर apne keyword का use करे। जिसे की आपकी ranking में अच्छा effect पड़ेगा।

12.Modifiy Title: Apne title को हमेशा ही attractive बनाए। आप आपने title को बढ़िए से लिखने के लिए आपको अपने title में best”, “top”,helpful”, जैसे wording use करके अपने title को attractive बना सकते है। जिससे की user ज़्यदा engage होता है। और आपकी seo ranking में भी बहुत ज़्यदा फर्क पड़ता है।

No comments:

Post a Comment